Home

Thursday, July 26, 2012

आगामी कार्यक्रम


परम पूज्य श्रद्धेय आ० गो० श्री मृदुल कृष्ण शास्त्री जी महाराज 

हम सबको इस बात का ज्ञान है कि हमारे पूज्य गुरुदेव की आवाज़ और उनकी कथा न केवल भारत में अपितु सात समंदर पार विदेशों में भी भक्तो का मार्गदर्शन करती है और उनको परम शांति का अनुभव कराती है. उनके कठिन परिश्रम के द्वारा और प्रभु श्री बांके बिहारी जी की कृपा से हमारे गुरूजी कि बुलंदिय केवल भारत की भूगौलिक सीमा में कैद नहीं हैं. वे विदेशों में भी उतने ही प्रिय और पूजनीय हैं जितने कि वो अपने देश में हैं. ये केवल एक तथ्य नहीं है, मै यह बात पूरे प्रमाण के साथ कहता हूँ. राधे जू की कृपा से हमारे इस ब्लॉग को एक सप्ताह में लगभग 5000 बार देखा जाता है और इनमे से 16 प्रतिशत विदेश के भक्त हमारे विचारों को पढते हैं. हमारे ब्लॉग के आंकड़े यह दिखाते हैं कि भारत के आलावा यह ब्लॉग अमेरिका, फ्रांस, इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया, पोलैंड, कनाडा, संयुक्त अरब राष्ट्र, नेपाल और जेर्मनी में हर सप्ताह पढ़ा जाता है जो इस बात का प्रत्यक्ष प्रमाण है कि इन सभी देशो में गुरूजी के चाहने वाले निवास करते हैं. इसलिए हर वर्ष पूज्य गुरुदेव कुछ समय के लिए विदेश यात्रा पर जाते हैं और वहां के भक्तों को हमारे वृन्दावन की एक झलक दिखाते हैं. मुझे यह जानकार कोई आश्चर्य नहीं होता की पूज्य गुरुदेव और उनके शिष्य मिलकर अमेरिका में भी ठाकुर जी को राधा राणी के साथ प्रकट कर देते हैं. इस वर्ष पूज्य गुरुदेव 05 अगस्त से 30 सितम्बर तक अमेरिका में कथामृत का वितरण करेंगे. वहां पर आयिजित उनकी सभी कथाओं का विवरण नीचे दिया जा रहा है:

  1. 05 August to 12 August : Riverside, USA
  2. 17 August to 23 August : Toronto, Canada
  3. 25 August to 31 August : Los Angeles, USA
  4. 02 September to 08 September : Edmenton, USA
  5. 10 September to 16 September : Washington, USA
  6. 17 September to 23 September :  Houston, USA
  7. 24 September to 30 September : New Jersey, USA

विशेष कार्यक्रम


इस वर्ष जन्माष्टमी के पावन अवसर पर श्री भगवत मिशन ट्रस्ट के तत्वाधान में अष्टोत्तरशत (१०८) श्रीमद भागवत कथा का विशाल आयोजन किया जा रहा है. 

कथा व्यास : श्रद्धेय आ० श्री गौरव कृष्ण गोस्वामी जी महाराज
कथा स्थल : ठा० श्री राधा स्नेह बिहारी मंदिर/आश्रम
दिनांक : ०७ अगस्त से १३ अगस्त
समय : सायें ०३:०० बजे से ०७:०० बजे तक 

इस कथा के चतुर्थ दिवस की कथा जन्माष्टमी के पवित्र पर्व पर सुनाई जायेगी और मध्यरात्रि को ही बालकृष्ण  का जन्म पूज्य गुरुदेव अपनी मंगलमयी वाणी से करेंगे. साथ ही इस कथा का सीधा प्रसारण केवल अध्यात्म चैनल पर दिखाया जायेगा. सभी भक्तगण इस कथा को सुनकर अत्यंत दुर्लभ सौभाग्य का लाभ प्राप्त करें और ठाकुर जी के चरित्रों के श्रवण से अपने जीवन को कृतार्थ करें.  

12 comments:

  1. parnam guru dev

    ReplyDelete
  2. jai shree Gurudev ji .... Bs Guru ji vaddi ka hame aise hi nirantar pan hota rhe..jai Radhe Jai Radhe....

    ReplyDelete
  3. mile satguru zindgi mil gai hai...ke murjhayedill ki kali khil gai hai....parnam Anshu ji chhote guru dev ki agami kathao ke baare mai bhi agar aap jankari de sake to aap ki mehti kripa hogi......agar mere guru dev se aap ki bhent ho to hamari bhi radhe radhye bol dijiyega............aur unn se aap ne bataya nahi tha ki unn ki ek shishya hai jo unn se milna chahti hai........................jai jai shri radhye......

    ReplyDelete
  4. Jai shri Radhe anshu Ji..
    Gurudev ki jo katha Janamstami ke uplakshya me hone ja rahi hai kya iska prasaran aastha ya sanskar par hoga.. chahe kuch bhag hi ho...??

    ReplyDelete
  5. Radhey Radhey Ankit ji,

    Abhi tak iski koi information nahi hai. Par ha katha ka live telecast adhyatm channel pe zarur hoga.

    ReplyDelete
  6. radhe radhe

    jai shri krishna.....!

    ReplyDelete
  7. Jai Shri Radhey!

    Chaturth diwas ki katha "fri 10 aug" ko sunayi jaanewaali katha kitne baje ko prarambh hogi?

    ReplyDelete
  8. radheradheradheradheradheradheradheradheradheradheradheradheradheradheradheradheradheradheradheradheradheradheradheradheradheradhe

    ReplyDelete
  9. parnam Anshu ji guru dev ki agami katha kab aur kaha pe hai agar koi jankari ho guru dev ke agami kathao ke baare mai to aap se prarthna hai aap jarur pata dijiyega ham aap ke abhari rahenge meri to patrika bhi band kar di hai unn ke office walo ne aur na hi mera membership wala card h bhejte hai vo teen saal ho jayenge kitni baar phone bhi kar chuki hun unn ke delhi wale office mai magar koi sunwai hi nahi hoti agar guru ke ghar mai ya yu kehiye guru ke dwar pe bhi itni ansuni hogi to to iss duniya mai kaun sunega ham gareebo ki pukar free mai to ham bhi kuchh nahi mang rahe hai apne paise se kharida hua chard hi mang rahi hun unn se ye baat to maine guru ko ek patar mai likh kar bhi pahunchai thi magar baha bhi koi sunwai nahi hui ye shikayet to nahi bas aap se apne dill ki baat batane ka mann hua ki sayed aap hi meri koi help kar de agami kathao ke baare mai jankari de kar to aap ki badi kripa hogi ji.............jai jai shri radhye.....

    ReplyDelete
  10. 'ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं श्रीकृष्णाय गोविंदाय गोपीजन वल्लभाय श्रीं श्रीं श्री'

    ReplyDelete
  11. Way cool! Some extremely valid points! I appreciate you writing this write-up
    plus the rest of the website is really good.

    Here is my webpage; recommended reading

    ReplyDelete